Feb, 17, 2020
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

भगोड़े विजय माल्या को लंदन कोर्ट से बड़ा झटका…

Sharing is caring!

International Desk : भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को लंदन की कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। विजय माल्या 9,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में अपराधी पाये गये है। अभी हाल ही जब विजय माल्या के कानूनी सुनवाई पर लंदन की कोर्ट (Uk court) में याचिका जाहिर की गई, तब अदालत ने विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए भारतीय एजेंसियों द्वारा किये गए प्रयास को ख़ारिज कर दिया साथ ही विजय माल्या द्वारा रखे गए कुछ पक्षों को भी अनुमति देने से इंकार कर दिया। बैंकों का लोन लेकर फरार चल रहे शराब कारोबारी विजय माल्या को PMLA कोर्ट ने पिछले दिनों ही भगोड़ा घोषित कर दिया था। PMLA कोर्ट के पश्चात विजय माल्या अब देश का पहला आर्थिक भगोड़ा बन गया है।  दरअसल कोर्ट ने इस फैसले को 26 दिसंबर 2018 को 5 जनवरी 2019 तक के लिए सुरक्षित कर रखा था, जबकि भगोड़े विजय माल्या ने कोर्ट में यह दलील की थी कि वह भगोड़ा नहीं है और ना ही वो मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अपराधी है। 

इससे पहले भगोड़े विजय माल्या ने दिसंबर महीने में आग्रह किया था कि उसे आर्थिक भगोड़ा अपराधी घोषित करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय के जरिये शुरू कार्यवाही पर रोक लगाई  जाये, परंतू कोर्ट ने भगोड़े माल्या की इस अर्जी को खारिज कर दिया था। जिसके पश्चात भगोड़े विजय माल्या ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को भी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, साथ ही उसने सुप्रीम कोर्ट से यह भी मांग की थी की सरकार उसकी संपत्तियों को जब्त करने के फैसले पर रोक लगा दे। इसका विरोध जताते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपनी याचिका में माल्या को आर्थिक अपराध में भगोड़ा घोषित करने की मांग की थी साथ ही एफईओ कानूनों के प्रावधानों के तहत भगोड़े विजय माल्या और उसकी संपत्ति को केंद्र के नियत्रण में ली जाये इसकी मांग भी की थी।

साथ ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपने पहले आवेदन में यह भी स्पष्ट कर दिया था की भगोड़ा विजय माल्या का शुरुवात से ही ऋण चुकाने का कोई इरादा नहीं था। जबकि उसके और यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स लिमिटेड कंपनी  के पास ऋण चुकाने के लिए पर्याप्त संपत्ति थी, पर माल्या ने जानबुझकर ऐसा नहीं किया। लंदन कोर्ट द्वारा उसके प्रत्यर्पण की खाविश को ख़ारिज करना ऐसे भगोड़े के मुँह पर सरकार और सत्ता का तगड़ा तमाचा है।   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...