Feb, 17, 2020
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

नवरात्री के आठवे दिन का महत्व, जानिए कैसे होगी आपकी इच्छा पूर्ति

Sharing is caring!

Religiouse Desk : आज चैत्र की नवरात्री का आठवा दिन है। आज माता के आठवें रूप जिनका नाम महागौरी है, उनकी पूजा की जाती है। महागौरी का वर्ण पूर्णतः गौर रूप का है इसलिए यह महागौरी कहलाती है। महागौरी नाम पड़ने का एक कारण स्वंग भगवान शिव भी है, (गौरवर्ण, गौर पूर्णत ):-

एक बार महादेव पार्वती जी से कुछ कहते है जिसे सुन पार्वती जी गुस्सा हो जाती है, और महादेव को बिना बताए तपस्या करने जंगल में चली जाती है। जब काफी समय बाद महादेव को यह एहसास होता है कि पार्वती जी नहीं है, तब वह पार्वती जी को ढूंढते उस स्थान पर पहुंचते है जहा माँ पार्वती तपस्या कर रही होती है। उस समय पार्वती जी का रंग अत्यंत ओजपूर्ण रहता है, और उनकी छटा चांदनी के समान श्वेत और कुन्द फूल के समान धवल दिखाई पड़ती है। उनके वस्त्र और आभूषण से प्रसन्न होकर देवी उमा को गौरवर्ण का वरदान देती है।

महागौरी के रूप का वर्णन :-

महागौरी की चार भुजाए है, उनकी दायी भुजा में अभय मुद्रा और नीचे वाली भुजा में त्रिशूल धारण करती है। बायु भुजा के ऊपर वाली भुजा में डमरू धारण करती है, और निचे वाली भुजा से भक्तो को आशीर्वाद देती है। 

माता के आशीर्वाद का फल:-

जो लोग अष्टमी का उपवास तथा माता महागौरी की पूजा करते है, उनकी हर इच्छा पूरी होती है। जिन भक्तो पर माँ प्रसन्न होती है उनका असंभव कार्य भी संभव हो जाता है। 

माता की पूजा के लिए विशेष सामग्री :-

माता का पूजन रोज की तरह सामान्य रूप से करे। 

प्रसाद में माता को नारियल या नारियल से बानी चीजे चढ़ाए। साथ ही नारियल दान भी करे। 

माता को चुनरी चढ़े तथा श्वेत पुष्प से माता की पूजा करे। माता शीघ्र ही प्रसन्न हो कर आशीर्वाद देंगी, और आपकी मनोकामनाए पूरी होंगी। 

माता की पूजन का मन्त्र :-

या देवी सर्वभूतेषु माँ महागौरी रूपेण संस्थिता। 

नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमस्तस्यै नमो नमः। 

बहुत से लोग अष्टमी को भी कन्या पूजन करते है। कन्या पूजन में 2 साल से 10 साल तक की कन्याओ को भोजन कराया जाता है। जिसमे नौ कन्याएं शामिल होनी चाहिए। कन्याओ को देवी रूप समझ उनकी सेवा करनी चाहिए, श्रृंगार, खोइछा, बिना नामक का मीठा खाना और भोजन दक्षिणा दे उनसे आशीर्वाद लेकर विदा करना चाहिए। 

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...