Sep, 22, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

मुलायम सिंह पर CBI को फर्जी रिपोर्ट देने के लगे आरोप

Sharing is caring!

National Desk : उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव अपनी तबीयत को लेकर परेशान चल रहे है। इसी बीच उनके ऊपर एक आरोप लग गया है खबरों के मुताबिक मुलायम सिंह ने सीबीआई जांच के दौरान फर्जी रिपोर्ट पेश किया था। 

जिसके बाद अब उनके और उनके परिवार के सदस्यों द्वारा आय से अधिक संपत्ति के मामले में और सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किए गए फर्जी हलफनामे के मामले में आदेश खारिज करके जांच कराने की मांग की गई है। 

25 मार्च को सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कांग्रेस के विशवनाथ चतुर्वेदी द्वारा दायर एक याचिका पर सीबीआई और मुलायम सिंह यादव से जवाब मांगा था। 2007 में दायर की गई जनहित याचिका में विश्वनाथ ने कोर्ट से कहा था कि इस बात की जांच कराई जाए कि मुलायम सिंह, उनके बेटों अखिलेश और प्रतीक यादव पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई ने 12 वर्षों तक क्या किया। इस मामले में अभी तक कोई रिपोर्ट पेश क्यों नहीं की गई। 

वहीं मुलायम सिंह यादव ने अपनी याचिका में चतुर्वेदी पर आरोप लगाया था कि वह राजनीतिक विवाद कोर्ट में ला रहे हैं। उन्होंने कहा था कि सीबीआई ने उन्हें 30 जुलाई, 2007 और 20 अगस्त, 2007 की दो स्टेटस रिपोर्ट के आधार पर और सीबीआई के तत्कालीन डीआईजी तिलोत्तमा वर्मा की ओर से 2 फरवरी 2009 को तैयार की गई स्टेट्स रिपोर्ट के आधार पर उन्हें क्लीन चिट दे दी थी जिसके बाद से यह विवाद समाप्त हो जाता है।  

मुलायम सिंह ने अपने हलफनामे में कहाकि  याचिकाकर्ता ने 2019 के आम चुनावों के समय बेबुनियादी तरीके से याचिका दायर की उन्होंने 30 जुलाई 2007 और 20 अगस्त 2007 की स्टेट्स रिपोर्ट का खुलासा किए बिना ही याचिका दायर की है। 2 फरवरी 2009 को स्टेट्स रिपोर्ट के विश्लेषण को अदालत में प्रस्तुत किए बिना सिर्फ 26 अक्टूबर 2007 की रिपोर्ट के आधार पर याचिका दायर की गई है। कुल मिलाकर एक बार फिर से मुलायम सिंह की मुश्किलें बढ सकती है। 

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...