Oct, 16, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

हार्दिक पटेल को सुप्रीम कोर्ट से झटका, नहीं लड़ सकेगें चुनाव

Sharing is caring!

National Desk : गुजरात हाई कोर्ट के बाद अब हार्दिक पटेल को सुप्रीम कोर्ट से भी करारा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने हार्दिक के चुनाव लड़ने की उम्मीद पर पानी फेर दिया. देश की शीर्ष अदालत ने 2015 में गुजरात के मेहसाणा में दंगा भड़काने के मामले में हार्दिक की सजा को निलंबित करने की याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया. कोर्ट अपनी सुनवाई में कहा कि इस पर तुरंत सुनवाई की कोई जरूरत नहीं है। कोर्ट के पास और बहुत सारे महत्तवपूर्ण केस पड़े हुए है जिस पर तत्काल सुनवाई की जरुरत है. हालांकि कोर्ट इस पर सुनवाई के लिए 4 अप्रैल की तारीख तय कर दी है. लेकिन कोर्ट के इस फैसले से हार्दिक पटेल का चुनाव लड़ने का सपना इस बार साकार नहीं हो पायेगा. इससे पहले गुजरात हाई कोर्ट ने हार्दिक की सजा को निलंबित करने की याचिका को रद्द कर दिया था। 

पीपल्स रिप्रजेंटेटिव ऐक्ट, 1951 के मुताबिक हार्दिक पटेल अपनी सजा के कारण इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। इस कानून के तहत जिस किसी को भी दो या दो से अधिक साल की सुजा सुनाई गयी है वह चुनाव नहीं लड़ सकता. पाटीदार आरक्षण आंदोलन से लोगों के बीच पहचान बनाने वाले 25 साल के हार्दिक पटेल ने 12 मार्च को कांग्रेस में शामिल होने के बाद जामनगर से चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू कर दी थी। 
हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से टिकट के लिए भी बात कर ली थी और खबरों की मानें तो हार्दिक का टिकट लगभग तय माना जा रहा था. लेकिन हाई कोर्ट और अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने उनकी तैयारियों पर पानी फेर दिया. जामनगर लोकसभा सीट पर नामांकन के लिए 4 अप्रैल आखिरी तारीख है और कोर्ट ने 4 अप्रैल को सुनवाई की तारीख तय की है ऐसे लगभग हार्दिक के चुनाव लड़ने की उम्मीद ना के बराबर है.

मेहसाणा जिले के सेशन कोर्ट ने 2015 में विसनगर में पाटीदार आंदोलन के दौरान हुए दंगे, आगजनी और बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के कार्यालय में तोड़फोड़ के मामले में दोषी पाया था. जिसके बाद कोर्ट ने हार्दिक और उनके साथियों को दो साल की सजा मुकर्र की थी.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...