Dec, 15, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

सर्दी-जुकाम की वजह से भी हो सकता है कैंसर, जानिए कैसे रहें सावधान?

Sharing is caring!

Lifestyle Desk : सर्दी जुकाम होने के कई कारण होते है। अक्सर मौसम चेंज होने की वजह से सर्दी – जुकाम हो जाती है। सर्दी बढ़ जाने की वजह से सिर दर्द, बुखार, चिरचिरापन और खाना अच्छा नहीं लगने की शिकायत होती है। ऐसे में लोग पानी का सेवन भी कम करने लगते है। जुकाम होने पर जो खाना चाहिए वो अच्छा नहीं लगता और हम जो खाते है वो हमारे लिए फायदेमंद नहीं होता है। वैसे तो सर्दी की उम्र 3 से 4 दिन की ही होती है, जो बदलते मौसम की वजह से होती है। पर कुछ लोगो को सर्दी बहोत समय तक घेरे रखती है, जिस वजह से व्यक्ति को काफी कमजोरी महसूस होने लगती है।

जुकाम के जायदा दिनों तक रहने की वजह से कैंसर होने की भी संभावनाए उत्पन्न हो जाती है। डॉ. के रिसर्च अनुसार फेफड़े में कैंसर होने की वजह साँस लेने में तकलीफ होती है। जब इंसान को धूम्रपान करने की वजह से कैंसर होता है तो उसका कारण होता है फेफड़े में धुआँ भरना, जिस वजह से साँस लेने में तकलीफ होती है। यही समस्या बढ़ते – बढ़ते कैंसर का रूप ले लेती है। ठीक इसी तरह जब हम जुकाम से जायदा दिन पीड़ित रहते है, तो साँस लेने तकलीफ होती है, और अगर ये शील-शिला बहुत दिनों तक चले तो कैंसर का रूप ले सकती है।  इसलिए जायदा दिन जुकाम रहने पर डॉ. से दिखाए। इसे छोटी तकलीफ समझकर अनदेखा न करे।

 सर्दी – जुकाम में न करे ये काम :–

1 . खांसी या छींक आते वक़्त मुँह को बंद ना रखे। साथ ही टिशू का प्रयोक करे और टिशू डस्टबिन में डाल दे।  

2 . नींद 7 घंटे जरूर पूरी करे। बिना नींद पूरी किए ड्राइव ना करे।3. लोगो से दुरी बना कर रखे, ताकि लोगो को इंफैक्शन ना हो। हो सके तो ऑफिस ना जाए।  

4. अपने मन से किसी तरह की एंटीबायोटिक का इस्तेमाल ना करे। डॉ. की सलाह से ही दवाई का प्रयोग करे।  

5. धूम्रपान ना करे।

 6. गर्म से ठण्ड वातावरण में ना जाए।  

7. ठंढी चीजों का सेवन ना करे।  

र्दी – जुकाम में करे ये काम :–

1. पानी, जूस, सूप और अन्य तरल पदार्थ का सेवन आवश्य करे। इससे सांस लेने की प्रक्रिया में तेजी आएगी।  

2 . सात घंटे से जायदा ना सोए। जायदा सोने की वजह से जुकाम तीन गुना अधिक बढ़ने की संभावना उतपन्न हो जाती है।

 3 . अधिक तनाव ना ले। खुद को आराम दे। अधिक तनाव लेने की वजह से इम्युनिटी सिस्टम को नुकसान पहुँचता है।  

4 . रेगुलर एक्ससरसाइज को थोड़ा कम कर दे।  

5 . पोषण युक्त खाना ही खाए। ठंढी चीजों से दूर रहे।  

6 . डॉ. की सलाह अनुसार ही दवा ले। साथ ही खान-पान का भी ध्यान दे।
छोटी तकलीफ समझ लापरवाही ना करे।  

डॉ. से सलाह आवश्य ले।    

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...