Dec, 15, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

सर्जिकल स्ट्राइक का हुआ खुलासा, मिल गया सबुत…

Sharing is caring!

26 फरवरी को किए गए सर्जिकल स्ट्राइक को ले कर काफी सवाल उठाए गए. पाकिस्तान इस बात की पुस्टि करने को तैयार ही नहीं था की आतंकीयो का खत्मा  हुआ है यहाँ तक की पाकिस्तान सयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ बालाकोट में हुए पेड़ो के नुकसान को लेकर करवाई की मांग कर रहा है। जबकि जैश का आतंकी ठिकाने को निशाना बनाया है भारतीय वायु सेना ने. और जैश का आतंकी ठिकाना और कोई नहीं उन्ही जंगलो में था जिसे धवस्त किया गया, तो जाहिर सी बात है पेड़ों को भी नुकसान पंहुचा जबकि इसका असली जिमेवार भारतीय वायु सेना नहीं पाकिस्तान है चुकी न वो आतंकियों को शरण देता और न ये सब होता। नेशनल टैक्निकल रिसर्च ऑर्गनाइजेशन के अधिकारियो ने खुलासा किया है की जब पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक हुआ और जिस स्थान को ध्वस्त किया गया वहा उस समय 280 से भी जायदा फोन एक्टिववेट थे। तो जाहिर सी बात है आदमी तो होंगे ही वहा भला पेड़ – पौधों को फोन का क्या काम। 

सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर भारतीय वायु सेना ने भी दिया अपना बयान, उन्होंने कहा हमने अपने लक्ष्य को पूरा किया और हम सब भारत सुरक्षित लौटे वो भी अपने मकसद को 100 % सफलता पूर्वक अंजाम देकर।  भारतीय वायु सेना ने जहा करवाई की थी वहा पर जैश-ऐ-मोहम्मद का मदरसा भी था और इस बात की पुष्टि मदरसा में तालीम ले रहे छात्रों ने की है की 26 फ़रवरी की सुबह धमाके की सुबह थी। जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें सुरक्षित स्थान पर पंहुचा दिया था। मदरसे की आर में वहा आतंकियों को पनाह दी थी, वहा पर उनका बड़ा आतंकी अड्डा था जिसे भारतीय वायु सेना ने ख़त्म किया. इस बात की पुष्टि न्यूज एजेंसी रायटर्स ने कई स्थानीय निवासियों से बात चित के द्वारा की है।  पाकिस्तानी यूजर्स ने ट्विटर पर भी लिखा था की 26 फरवरी के बाद बालाकोट में लगभग 10 एम्बुलेंस देखे गए। तो जाहिर सी बात है पेड़ो को तो इलाज की जरुरत पड़ी नहीं होंगी। पाकिस्तानी सेना ने एयर स्ट्राइक के ठीक बाद वलर्ड मिडिया को बालाकोट में ले जाने का न्योता तो दिया पर तुरंत नहीं एक दिन बाद का ताकी पाकिस्तानी सेना सारे सबुत मिटा सके और साथ ही मिडिया को उस मदरसे से काफी दूर रखा गया, उसके आस पास भी जाने नहीं दिया।  

एयर स्ट्राइक के बाद जैश-ऐ-मोहम्मद के कमांडर का एक ऑडियो भी सामने आया था जिसमे उसने ये कबूल किया था की बड़े पयमाने पे नुकसान हुआ है और बचे हुए आतंकियों में डर का माहौल बना हुआ है। हमारे देश में कुछ ऐसे भी नेता है जो एयर स्ट्राइक का सबुत मांग रहे है। जब आतंकवाद खुद ही सबुत दे रहे है तो हमारी वायु सेना को सबुत देने की क्या जरुरत है। ऐसे नेता पाकिस्तान की बोली बोल रहे है, पकिस्तान भी तो एहि कह रहा है कि हमरा कोई नुक्सान नहीं हुआ है। देश को अभी एक जुट रहने की जरुरत है नहीं तो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमारी किरकिरी ही होगी और कुछ नहीं। इमरान खान तो यहि कहेंगे न कि आप अपने देश के कुछ ऐसे लोगो को ही सबुत दे दो जो सबुत मांग रहे है। भारतीय वायु सेना की इस करवाई से देश में ख़ुशी का माहौल है और ऐसे और करवाई हो सकते है। मोदी जी ने भी कहा था कि ये तो बस शुरुआत है आगे अभी और करवाई होने बाकि है। मोदी जी ऐसे प्रधान मंत्री है जो दुश्मनो से आंख में आंख डाल कर बात करते है। भारतीय वायु सेना ने वाकई काबिले तारीफ काम किया है और आज पूरा देश उनके इस जज्बे को सलाम कर रहा है।   

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...