Sep, 22, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को जमकर लगाइ फटकार…

Sharing is caring!

National Desk : पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद हर किसी के दिल में आतंकवादियों को लेकर आक्रोश भरा है, साथ ही आतंकियों को सरन देने वाले पाकिस्तान पे भी लोगो का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है, चुकी पाकिस्तान हर बार कहता कुछ है और करता कुछ और है। पहले मोदी जी ने, अमेरिका ने, हर किसी ने पाकिस्तान को फटकार लगाई है। साथ ही अब विदेश मंत्री शुष्मा स्वराज ने भी पाकिस्तान को और उनके विदेश मंत्रालय को जमकर फटकार लगाई है। शुष्मा स्वराज ने “इंडियन वलर्ड : मोदी गवर्नमेंट्स फॉरेन पॉलिसी ” के कार्यकर्म में कहा कि इमरान कुछ ज्यादा ही उदार बन रहे है, वो कहते है कि शांति से बात करना चाहते है पर वो शांति से बात करने लायक माहौल कहा बना रहे है। साथ ही वो तो आतंकियों का सपोर्ट कर भारत से युद्ध करने के फ़िराक में दिख रहे है। कभी कहते है कि आतंकियों के खिलाफ करवाई करेंगे और फिर शांत रह जाते है। आखिर ऐसा क्यों ?  एक तरफ सब सही करने की और शांति की बात करते और दूसरी तरफ भारत पे हमला करवाते है। भारत पर पाकिस्तान में रह रहे आतंकी आते है और हमारे भारतीय सेना को मार कर चले जाते और पाकिस्तान ऐसे पेश आता है जैसे उसे कुछ मालूम ही नहीं है।

14 फ़रवरी को पुलवामा में आतंकी हमले में हमारे 40 जवानो को आतंकियों को जान से मारकर चले गए। कुछ ही मिंटो के बाद जैश ने इस हमले की जिमेवारी ले लिया। जब भारत ने कहा कि ये हमला पाकिस्तान ने करवाया है तो पाकिस्तान बोला कि भारत सबूत दे तो करवाई करेंगे। लेकिन भारत के सबूत देने के बाद भी जब 10 दिनों तक कोई करवाई नहीं देखि तो भारतीय वायु सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के तहत 26 फ़रवरी को आतंकियों को मार कर बदला लिया। हमारा मकसद सिर्फ आतंकियों के ठिकानो को मिटाना था ना की पाकिस्तान की सेना या पाकिस्तान के जनता पे हमला करना था। हमारी वायु सेना ने भी इस बात को ध्यान में रखते हुए सिर्फ आतंकियों के अड्डो पर ही हमला कर उनका सफाया किया। पर पाकिस्तान ने आतंकियों पे करवाई करने के वजाय उल्टा ऍफ़- 16 से भारत पर हमला करवाया वो तो हमारी सेना तैयार थी, जिस कारण पाकिस्तान का मकसद अधूरा रह गया। जब पाकिस्तान का ही कहना था कि उनके यहाँ किसी इंसान को नुक़सान नही पंहुचा फिर किस बात का बदला लेने पाकिस्तान ने एफ -16 विमान से हमला करवाया।

जब  पाकिस्तान को शांति चाहिए इमरान कहते है कि शांति से बात करना चाहिए तो फिर हमला करवाने का मतलब कौन सा शांति होता है। हर बार आतंकी पाकिस्तान से ही होते है और साथ ही पाकिस्तान हर बार कहता है नहीं, जबकि हर बार आतंकी पाकिस्तान में ही मिलता है। पुलवामा हमले की जिम्मेवारी जैश ने ली थी पर बाद में पाकिस्तान इस बात से मुकर गया कि जैश ने जिमेवारी ली थी। मुंबई हमले के वक्त भी पकिस्तान मुकर रहा था कि हाफिद पाकिस्तान में नहीं है पर वो मिला भी पाकिस्तान में ही।  इमरान अपने को उदार घोषित करना चाह रहे है, तो ठीक है उन्हें मौका मिलेगा लेकिन इसके लिए पाकिस्तान को मसूद अजहर को भारत को सौपना होगा तभी हम पाकिस्तान से सम्बन्ध अच्छे करने के बारे में सोच सकते है। वरना भारत पाकिस्तान का एक भी बात नहीं सुनेगा । अब कोई बात नहीं हमे परिणाम चाहिए। पाकिस्तान करवाई करे नहीं तो भारत के पास और भी विकल्प खुले है।  

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...