Oct, 16, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

मसूद अजहर मामले में चीन क्यू दिया धोखा? जानिए सटीक वजह..

Sharing is caring!

National Desk : पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड मास्टरमाइंड मसूद अजहर को पूरा दुनिया आतंकवाद मानता है लेकिन चीन उसे आतंकवाद नहीं मानता। जी हाँ आपने ठीक सुन्ना है, दरअसल आज 13 मार्च को UN में मसूर अजहर को ग्लोबल आतंकवादी घोसित करने के प्रस्ताव पर फैसला होना था. आपको बता दे कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोसित करने का प्रस्ताव UN में रखा था। इस बार ऐसा लग रहा था कि मासूस अजहर को ग्लोबल आतंकी घोसित कर दिया जायेगा क्यों कि अमरीका, फ्रांस, ब्रिटैन, रूस जैसे तमाम बड़े देश हमारे साथ खरे थे लेकिन अंत समय पर चीन ने अरंगा अटका कर मसूद अजहर को बचा लिया।

वैसे तो चीन कहता है कि भारत मेरा दोस्त है लेकिन भारत को छति पहोचाने वाले मसूद अजहर को बचा रहा है। हमेशा से चीन का रुख पाकिस्तान के लिए नरम रहता है लेकिन पूरी दुनिया के खिलाफ जा कर चीन एक आतंकवादी को बचा रहा है। चीन आतंकवाद का आका बना बैठा है, अब हम आम हिन्दुस्तानियों की जिम्मेदारी है कि हम चीन के सामान को बहिस्कार करें। दोस्तों चीन हमरे देश से बहोत पैसा कमाता है लेकिन फिर भी चीन हमरे खिलाफ जा कर पाकिस्तान का साथ देता है, ऐसा क्यों होता है ? क्या अपने कभी सोचा है ? हम बताते है आपको, इसके पीछे की वजह ये है कि चीन ने पाकिस्तान में काफी पैसा इन्वेस्ट किया हुआ है। हाला की चीन, पकिस्तान से कही ज्यादा बिज़नेस भारत के साथ करता है लेकिन चीन जनता है कि भारत के लोग हमारे सामान  बहिस्कार नहीं करेंगे। आपको बता दे कि भारत और चीन के बिच लगभग 89 बिलियन डॉलर का व्यापार होता है जबकि चीन और पाकिस्तान के बिच सिर्फ 9 बिलियन डॉलर का व्यापार होता है। चीन का व्यापार भारत के साथ पाकिस्तान से कही ज्यादा है पर फिर भी चीन पाकिस्तान की ही तरफदारी करता है।

चीन सोचता है कि हम कुछ भी कर ले लेकिन भारत के लोग हमरा सामान तो खरीदेंगे ही। लेकिन पाकिस्तान के साथ ऐसा नहीं है, अगर चीन पकिस्तान का साथ नहीं देगा तो वहां के लोग चीन के सामान को बहिस्कार करेंगे, पाकिस्तान में चीन को कुछ भी इन्वेस्ट करने नहीं देंगे। चीन जो पकिस्तान में सिपेक बना रहा है उसका विरोध वहा के आम लोग करने लगेंगे और इससे चीन को काफी नुक्सान होगा. अगर भारत के आम लोग चीन के सामान का बहिस्कार करने लगेंगे तो चीन को उससे भी ज्यादा नुक्सान होगा। तो दोस्तों अगर आपको भी लगता है कि चीन के सामान को बहिस्कार करना चाहिए तो बहिस्कार करें दूसरे को भी प्रेरित करें। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सअप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर सारे जगह शेयर करें और 130 करोड़ लोगों को जागरूक करें। जय हिन्द दोस्तों !  

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...