Sep, 22, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

भारत ने ऑस्ट्रेलिया से हार कर गवा दिया सीरीज, जानिए विराट ने क्या कहा..

Sharing is caring!

दिल्ली में खेले गए पांचवे और आखरी वन डे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हरा दिया। इस हार के साथ ही भारत बहोत दिनों बाद अपने घर में सीरीज हार गया। भारतीय फैंस के लिए निराशाजन खबर है, क्यों कि हम सब उम्मीद कर रहे थे कि भारत ये सीरीज जीतेगा। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बिच ये सीरीज भारत में हो रहा था और हम सब जानते ही है कि भारत को भारत में हराना इतना आसान नहीं होता। क्रिकेट के पंडितों का कहना था कि ऑस्ट्रेलिया की ये टीम भारत नहीं हरा सकता लेकिन जिस तरह से ऑस्ट्रेलिया ने भारत में प्रदर्शन किया है वो काबिले तारीफ है।

ऑस्ट्रेलिया के शुरुआती दो मैच हारने के बाद ऐसा लग रहा था जैसे इंडिया क्लीन स्वीप कर देगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने वापसी किया और आखिर के सभी तीनो मैच जित कर सब को चौका दिया। विराट कोहली  ने भी हार के बाद कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने वाकई अच्छा प्रदर्शन किया है। साथ ही विराट कोहली ने ये भी कहा कि हमारा प्रदर्शन काफी ख़राब रहा, हम कोई एक्सक्यूज़ नहीं दे सकते। हमरे खेलारियो को जिम्मेदारी लेकर खेलने की जरुरत है। आगे विराट ने कहा कि इस सीरीज में हमारा प्रदर्शन भी अच्छा था बस ऑस्ट्रेलिया हमसे थोड़ा अच्छा प्रदर्शन किया। विराट ने कहा कि आखरी तीन माचो में हमें अपने बेंच स्ट्रेंथ टेस्ट करना था इस लिए टीम में इतने बदलाव कर के नय खिलाड़ियों को मौका दिया      

आपको बता दे कि टॉस जित कर ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया। अपने 50 ओवर के कोटा में ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट पर 272 रन बनाय।

ऑस्ट्रेलिया तरफ से उस्मान ख्वाजा ने 100 रन 106 गेंद, 10 चौके और 2 छक्के, पीटर हैंड्सकॉम्ब -52 रन, 60 बॉल और 4 चौके के साथ सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ रहे। भारत के तरफ से गेंदबाज़ी में भुवनेश्वर ने 3, शमी ने 2, जडेजा ने 2 और कुलदीप ने 1 विकेट लिए।

भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी काफी ख़राब रही जिसके वजह से भारत ये मैच हार गया। भारतीय टीम की  बल्लेबाज़ी – रोहित शर्मा 56 रन 89 गेंद, शिखर धवन 12 रन 15 गेंद, विराट कोहली 20 रन 22 गेंद, ऋषव पंत 16 रन 16 गेंद, विजय शंकर 16 रन 21 गेंद, केदार जाधव 44 रन 57 गेंद, रविंद्र जडेजा 0 रन 3 गेंद, बी कुमार 46 रन 54 गेंद, शमी 3 रन 7 गेंद, कुलदीप 8 रन 12 गेंद, बुमराह 1 रन 4 गेंद।

रोहित, केदार दधव और बी कुमार के अलावा सभी बल्लेबाज़ कुछ नहीं कर सके, इस मैच में धोनी की कमी खल रही थी. अगर धोनी होते तो मिडिल आर्डर में अनुभव दीखता और शायद भारत ये मैच जित जाता। हमरे बल्लेबाज़ी कर्म में अभी भी चिंता का विषय है कि मिडिल आर्डर में नंबर चार पर किसको खिलाय। वर्ल्ड कप से पहले ये भारत का आखरी मैच था। उम्मीद है वर्ल्ड कप में भारत के इस प्रॉब्लम का समाधान मिल जाए। 

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...