Sep, 22, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

बिहार का एक भव्य तीर्थस्थल है राजगीर, जाने राजगीर की विशेषता.

Sharing is caring!

बिहार में कई तीर्थस्थल है जिसमे से एक राजगीर है। राजगीर बहोत ही प्राचीन और नमी स्थान है यहाँ देश, विदेश से लोग घूमने आते है। वैसे तो ठंढी में लोग ज्यादा आते है। लेकिन यहाँ हमेशा पर्यटक आते ही रहते है. कोई भी माह ऐसा नहीं है जब राजगीर में पर्यटकों की कमी होती हो।  

राजगीर – राजगीर सात पहाड़ियों से मिलकर बना है जिनके नाम इस प्रकार हैं – छठगिरि, रत्नागिरी, शैलगिरि, सोनगिरि, उदयगिरि, वैभरगिरि एवं विपुलगिरि। हर पहाड़ी पर कोई न कोई जैन, बौद्ध या हिन्दू मंदिर है। राजगीर के प्रसिद्द पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है – सोन भंडार, मगध राजा जरासंध का अखाड़ा, गर्म जल के कुण्ड, ब्रह्म कुण्ड और मखदूम कुण्ड दो प्रसिद्द कुण्ड हैं।

राजगीर और इसके आसपास कई ऐतिहासिक और भी चीजे है। जैसे – सप्तपर्णि गुफा, विश्व शांति स्तूप, सोन भंडार गुफा, मणियार मठ, जरासंध का अखाड़ा, बिम्बिसार की जेल, नौलखा मंदिर, जापानी मंदिर, रोपवे, बाबा सिद्धनाथ का मंदिर, घोड़ाकटोरा डैम, तपोवन, जेठियन बुद्ध पथ, वेनुवन, वेनुवन विहार, प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय, जैन मंदिर इत्यादि।  

राजगीर का प्रसिद्ध लक्ष्मण झूला 

बिहार का एक छोटा-सा शहर है राजगीर, जो कि नालंदा जिले में स्थित है। राजगीर में सोन भंडार गुफा भी है, ‍जिसके बारे में यह कहा जाता है कि इसमें बेशकीमती खजाना छुपा हुआ है जिसे आज तक कोई नहीं खोज पाया है। गुफा के बारे में ये कहा जाता है कि जो कोई भी इस गुफा में जाने की कोशिश की है वो आज तक लौट कर नहीं आया, उसकी मृत्यु होगयी है। 

यहां आने वाले लाखों श्रद्धालु पवित्र नदियों में स्नान कर के पूजा अर्चना करते है। यहाँ की प्रमुख नदिया है –  प्राची, सरस्वती और वैतरणी। इसके अलावा गर्म जलकुंडों यथा ब्रह्मकुंड, सप्तधारा, न्यासकुंड, मार्कंडेय कुंड, गंगा – यमुना कुंड, काशीधारा कुंड, अनंत ऋषि कुंड, सूर्य कुंड, राम-लक्ष्मण कुंड, सीता कुंड, गौरी कुंड और नानक कुंड भी है। राजगीर का नज़ारा देखते ही बनता है। राजगीर के पास बौद्ध गया नाम का एक शहर है जहां बौद्ध धर्म का प्रसिद्ध मंदिर है. ज्यादातर लोग जो राजगीर आते है वो बौद्ध गया भी जाते ही है. हर किसी को एक बार राजगीर जरूर घूमना  चाहिए।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...