Dec, 15, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

आईपीएस राकेश अस्थाना और दो अन्य अधिकारी का सीबीआइ पे इल्जाम, इनका शीर्ष बेतन लागु…

Sharing is caring!

पूर्व सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के साथ आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना और उनके अतिरिक्त 2 अधिकारियो का रिश्वत खोरी को लेकर टकराव चल रहा था। सीबीआई में रिश्वतखोरी विवाद के चलते केंद्र ने राकेश अस्थाना को पद से निष्कार्षित कर दिया था। अब राकेश अस्थाना सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो के महानिदेशक पद पर सेवा निविर्त हैं। इस आरोप में राकेश अस्थाना के साथ अन्य और अधिकारी थे। मंत्रालय के आदेश के मुताबिक, आईपीएस राकेश अस्थाना, राष्ट्रीय जांच एजेंसी के प्रमुख वाईसी मोदी और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के महानिदेशक एसएस देसवाल को शीर्ष वेतनमान मिला है। तीनों 1984 बैच के आईपीएस अफसर हैं। इनका बेतन बढ़कर 2. 25 लाख हो गया है। 

केंद्र सरकार ने अस्थाना को सीबीआई के विशेष निदेशक पद से हटाए जाने के अगले दिन 18 जनवरी को सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो के पद  की जिम्मेदारी सौंपी थी। इस  पद पर राकेश अस्थाना की नियुक्ति दो साल के लिए की गई है।सीबीआई में रिश्वतखोरी की विवाद सामने आने पर केंद्र ने पूर्व डायरेक्टर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को पिछले साल 23 अक्टूबर को छुट्टी पर भेज दिया था। सीबीआई ने फर्जी लेनदेन से जुड़े मामले में घूस लेने के आरोप में अस्थाना के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके बाद राकेश अस्थाना ने आलोक वर्मा पर रिश्वतखोरी के आरोप लगाए थे। राकेश अस्थाना के कहे अनुसार सीबीआई के पूर्व अधिकारी आलोक वर्मा अपने फर्ज और देश के साथ गद्दारी कर रहे थे, राकेश का कहना था कि वो अपने पद के अधिकार का अनुचित फायदा उठा रहे है।  

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...