Sep, 22, 2019
HOTLINE: 9594041704
BREAKING NEWS

अब मसूद अजहर का दी एन्ड, UN करेगा आतंकी घोसित?

Sharing is caring!

मसूद अजहर 2009 से लेकर आज 2019 तक बचता आ रहा है. जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर जो कि आतंकी संगठनो का गुरु है। अमेरिका ने जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के प्रस्तावों का समर्थन किया है। अमेरिकी विदेश विभाग के उपप्रवक्ता रॉबर्ट पलाडिनो ने बुधवार को कहा कि मसूद अजहर ही जैश का संस्थापक है और वह वैश्विक आतंकी घोषित करने के संयुक्त राष्ट्र के दायरे में आता है। यूएन जैश को आतंकी गुटों का सरदार मानता है।  

भारत ने 2009 में पहलीबार यूएन में मसूद अजहर को वैश्र्विक आतंकी घोषित किए जाने के लिए प्रस्ताव दिया था, पर चीन ने सहमति नहीं जताई थी जिस कारण से मसूद अजहर बच गया था। 2016 में भारत ने फिर अमेरिका, यूके और फ्रांस के साथ मिलकर अजहर पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव यूएन को दिया था। इस प्रस्ताव में कहा था कि जनवरी 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हमले का मास्टरमाइंड कोई और नहीं मसूद अजहर ही है। उस वक़्त भी चीन  की सहमति न होने की वजह से कुछ नहीं हो पाया। 2017 में भारत, अमेरिका, यूके और फ़्रांस ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र में मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए प्रस्ताव यूएन में दिया था। हर बार की तरह चीन ने इसका बिरोध किया।

भारत में एक बार फिर पुलवामा में हुए 14 फरवरी को आतंकी हमला हुआ जिसका मास्टरमाइंड मसूद अजहर ही है. भारत ने अमेरिका के साथ मिलकर के बाद एक बार फिर यूएन में जैश के खिलाफ प्रस्ताव दिया है. आतंकियों के खिलाफ अमेरिका और भारत साथ मिलकर काम कर रहा हैं। मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने के लिए अमेरिका यूएन में भी भारत का साथ देगा। जैश कई आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार है और उससे देश की शांति को खतरा है।मार्च 2019 में अमेरिका, यूके और फ्रांस ने यूएन में एक नया प्रस्ताव रखा। इसके तहत अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने की मांग की गई। प्रस्ताव में कहा गया कि अजहर के दुनिया में कहीं भी आने-जाने, हथियार खरीदने पर रोक और उसकी संपत्ति कब्जे में कर ली जाए।पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के शाह महमूद कुरैशी ने जिओ टीवी के एक इंटरव्यू में कहा था कि पाकिस्तान अब वही करेगा जो उसके लिए फायदेमंद होगा। आज यूएन में दिए गए प्रस्ताव पर फैसला आना है देखते है होता क्या है। 

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
Loading...